मनोरंजन

‘इंडियन आइडियल’ कि पांचवें और छठे सीजन कि होस्ट रह चुकी, सुनिधि चौहान शो के खिलाफ दिया बड़ा बयान..!!

इंडियन आइडियलकि पांचवें और छठे सीजन कि होस्ट रह चुकी, सुनिधि चौहान शो के खिलाफ दिया बड़ा बयान..!!

टीवी रियलिटी शो लोगो को काफी पसंद आता है. लेकिन अच्छी टीआरपी के लालच में शो के मेकर्स शो में कुछ ज्यादा ही बढ़ा-चढ़ा कर दिखने लगते है, जिस वजह से शो को आलोचनाओं का सामना करना पड़ता है. इस साल का सब से विवादित शो ‘इंडियन आइडियल 12’ हर रोज़ अपने कंटेंट कि वजह से ट्रोल हो रहा है. साथ ही शो के जज से लेकर कांटेस्टेंट भी ट्रोल हो रहें हैं. पिछला विवाद सुलझा नही था, कि शो का नाम फिर से एक नई विवादों में घिर गया है.

टीवी रिएलिटी शो ‘इंडियन आइडल 12’  लगातार विवादों में बना हुआ हैं. पिछले एपिसोड में किशोर कुमार के बेटे अमित कुमार शो में अतिथि बनकर आये थें. लेकिन उन्होंने शो के खिलाफ ऐसा बयान दिया जिसको सुन कर सभी हेरान हो गाएं, उन्होंने कहा था, ‘मुझे शो सभी कंटेस्टेंट की तारीफ करने को कहा गया था’. इसी बयान के बाद लोग लगातार इस शो पर निशाना साध रहे हैं. इस विवाद के बाद सिंगर सुनिधि चौहान  ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है.

सुनिधि चौहान ने शो ‘इंडियन आइडियल’ के पांचवें और छठे सीजन को होस्ट कर चुकी हैं. एक इंटरव्यू में सुनिधि ने कहा, मुझे भी कंटेस्टेंट की तारीफ करने के लिए कहा गया था. सिर्फ ऐसा ही नहीं है, लेकिन हां, हम सभी को ‘प्रशंसा करने के लिए’ कहा गया था. ये बेसिक चीज है, और इसलिए मैं आगे शो में आगे नही बढ़ पाई. मैं वह नहीं कर सकी, जो वो चाहते थे और मुझे शो इससे अलग होना पड़ा. इसलिए आज मैं किसी रियलिटी शो को जज नहीं कर रही हूँ.

जब सुनिधि ने पूछा गया कि, क्या इंडियन आइडल के निर्माता केवल शो को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं?  इसपर सुनिधि ने कहा, ‘बहुत ज्यादा सभी शोज में काफी कंपीटीशन, मुझे लगता है कि ऐसा ध्यान खींचने के लिए किया जाता है. मुझे लगता है मेकर्स का दर्शकों को बांधने का ये एक तरीका है’. उन्होंने ये भी कहा,  इस तरह के प्लेटफॉर्म संगीत प्रेमियों के लिए एक बड़ा टिकट बन चूका हैं. सुनिधि ने आगे कहा, “जो भी शो के विनर रहें है, उन्होंने उतना मेहनत नही किया है, जितना उन सभी ने किया है जो शो से निकल गए. इसमें सच में कोई बात होती है उन्होंने कोई नही रोक सकता, उन्होंने किसी के टाइटल कि जरुरत नही होती. ना ही किसी फेम कि जरुरत होती है. अगर आपकी आवाज़ किसी कोने से किसी को पसंद आ जाती है तो फिर वो आपके साथ काम करेगा. और उन्होंने इससे जुडी फायदे और नुकसान भी बताया.

सुनिधि ने कहा, “मैंने ‘दिल है हिंदुस्तानी’, ‘द वॉयस’ और ‘इंडियन आइडल’ को जज किया है. मैं तब ही सच बोल सकती थी. आज भी मैं वही कहूंगी जो मुझे फील होता है. सुनिधि ने बताया जब कंटेस्टेंट सिर्फ अपने बारे में तारीफ सुनते हैं, तो वे भ्रमित हो जाते हैं. लेकिन दर्शक यह सब समझ आता है. अब देखते हैं, कि शो के मेकर्स इस पर अपनी क्या सफाई पेश करते हैं.

रिपोर्टर: उपासना सिंह

मीडिया दरबार

शेयर करें
COVID-19 CASES