स्वास्थ्य

कैफीन: चाय और काफी में होती है ये जानलेवा चीज़

आपकी चाय और काफी हो सकती  है जानलेवा

ऑफिस में काम करते-करते थकान महसूस करते हैं। अचानक से हमारे मन में ख्याल आता है चाय और काफी का और चाय या कॉफी पी लेते हैं। कुछ ही मिनट बाद खुद को फ्रेश महसूस करने लगते हैं, लेकिन कभी सोचा है ऐसा क्यों होता है। इसकी वजह है वो कैफीन जो आपकी चाय और कॉफी में पाया जाता है।

दुनिया की 80 फीसदी आबादी चाय या कॉफी के जरिए कैफीन ले रही है। आइये आपको बताते है कैफीन क्या है और यह हमारा दिमाग कैसे एक्टिव कर देता है|

पहले बताते है क्या है कैफीन-

कैफीन
image source-social media

आपकी चाय, कॉफी और कोको प्लांट में पाया जाने वाला स्टीमुलेंट है। इनके जरिए यह शरीर में पहुंचता है। इसका असर सीधे दिमाग के नर्वस सिस्टम पर पड़ता है। आप खुद को काफी रिलैक्स महसूस करने लगते हैं। कैफीन वाले पेय पदार्थों का चलन 18वीं शताब्दी में शुरू हो गया था, फिर ये साल-दर-साल बढ़ता रहा|

अब बताते है कैफीन काम कैसे करता है?

कैफीन
image source-social media

जब भी हम चाय या कॉफी लेते हैं, इसमें मौजूद ये पदार्थ ब्लड में मिलकर पूरे शरीर में फैल जाता है। इसका सबसे ज्यादा असर दिमाग पर होता है। दिमाग से जुड़ा एक न्यूरोट्रांसमीटर होता है एडिनोसिन

इसे भी पढ़े:-देश जहां पर मात्र 40 मिनट तक की होती है रात

यह आपको बताता है कि आप थक गए हैं। कैफीन इसी न्यूरोट्रांसमीटर को ब्लॉक कर देता है। ऐसे में आप थकान नहीं महसूस करते और खुद को फ्रेश पाते हैं।

कैफीन डोपामाइन और एड्रेनेलिन न्यूरोट्रांसमीटर की एक्टिविटी बढ़ाता है। नतीजा मिलता है उसका की हम उत्तेजित हो जाते हैं। खुद को काफी एक्टिव पाते हैं और ध्यान लगाकर काम कर पाते है।

डायटीशियन कहना है की कैफीन कुछ हद तक फायदा पहुंचाता है लेकिन जब यह अधिक मात्रा में शरीर में पहुंचता है तो नुकसान करने लगता है।

कैफीन के फायदे और नुकसान

कैफीन
image source-social media

 

शरीर में कैफीन पहुंचने पर भूख कम लगती है, इसलिए वजन घटता है। आप शारीरिक और मानसिक रूप से खुद को काफी एनर्जेटिक महसूस करते हैं, इसलिए ज्यादा काम कर पाते हैं, थकावट महसूस नहीं होती।

इसे भी पढ़े:-RTI दायर करने से पहले जान ले अदालत का ये अहम फैसला

शरीर में इसकी मात्रा अधिक होने पर सीधा असर नींद पर पड़ता है। नींद आने में दिक्कत आती है। शरीर से यूरिन ज्यादा रिलीज होती है और पानी की कमी हो जाती है। एनर्जी अधिक बढ़ने पर ब्लड प्रेशर बढ़ता है जो आपको कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए इसको कम मात्रा में ही लें तो बेहतर होता है|

रिपोर्ट-नेहा परिहार

मीडिया दरबार

शेयर करें
COVID-19 CASES