अंतर्राष्ट्रीय

‘नाज़नीन रैटक्लिफ’ कौन है ये महिला जिसे 12 साल बाद इरान ने सुनाई ये खौफनाक सज़ा ?

कौन हैं नाज़नीन रैटक्लिफ जो 2016 से काट रही है सज़ा?

ईरान में रह रही एक ईरानी और ब्रिटिश महिला जो पिछले 5 सालों से जेल की सज़ा काट रही है, उस पर ईरान ने अब एक बार फिर से फैसला सुनाया है।

इसे भी पढ़े:-अलीबाबा पर क्यों लगा 205 अरब रुपयों का जुर्माना?     

वो महिला नाज़नीन रैटक्लिफ को सज़ा सुनाए जाने के मामले में ब्रिटेन ने भी आलोचना की है, लेकिन ब्रिटेन ने इसकी आलोचना क्यों की, और क्या है पूरा मामला जानिए हमारी इस कवर स्टोरी में-

नाज़नीन रैटक्लिफ पर साल 2009 में लगाया गया था दुष्प्रचार फैलाने का आरोप

इन दिनों ईरान में एक मामला चर्चा का विषय बन गया है, दरअसल एक महिला जो पिछले 5 सालों से जेल की सज़ा काट रही थी, उसे अब बढ़ा कर एक साल और जेल की सज़ा सुना दी गई है।

महिला के वकील ने अधिकारिक तौर पर इसकी जानकारी दी है। लेकिन इस ईरानी और ब्रिटिश महिला की सज़ा को एक साल और बढ़ाने के कारण ब्रिटेन ने ईरान की जमकर आलोचना की है।

ब्रिटेन कर रहा हैं ईरान का विरोध

नाज़नीन रैटक्लिफ जिन्हें साल 2009 में लंदन में ईरान के दूतावास के सामने एक प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए इन्हें सज़ा सुनाई गई थी। साल 2009 में नाज़नीन पर दुष्प्रचार फैलाने का आरोप लगाया गया था।

इसे भी पढ़े:-जापान में टोक्यों ओलिंपिक से पहले क्यों लगानी पड़ी इमरजेंसी ?

साल 2016 से वह महिला इसी आरोप में सज़ा काट रही है। अब एक बार फिर से ईरान द्वारा सज़ा को बढ़ाने के पीछे उनके पति ने इसे अदालत का खराब फैसला करार दिया है। उन्होंने कहा है कि इसमें ईरानी अधिकारियों द्वारा मोल तोल की रणनीति भी हो सकती है।

रिपोर्ट- रुचि पाण्डें

मीडिया दरबार

 

शेयर करें
COVID-19 CASES