अंतर्राष्ट्रीय

Torrential Rains क्या है, जिसने इंडोनेशिया में मचाई तबाही|

Torrential Rains आखिर हैं क्या ?

इंडोनेशिया में जो हो रहा है उस देख पूरी दुनिया रुआसी हो गई है, समुद्र में आए तूफान की वजह से इतनी तबाही मची की पूरा देश तबाह हो गया। Torrential Rains के आई बाढ़ और भूस्खलन के बाद से लगभग 50 से अधिक लोगों की जान चली गई है|

इसे भी पढ़े:-People’s Alliance के पास एकजुट रहने के अलावा कोई विकल्प नहीं|

यह तबाही पूर्वी इंडोनेशिया के फ्लोर्स द्वीप से लेकर पड़ोसी देश तिमोर लिस्ते तक फैला है, इंडोनेशिया से आई तस्वीरे हैरान और परेशान कर देने वाली है, लेकिन क्या वाकई इंडोनेशिया में आई तबाही के पीछे प्राकृतिक आपदा ही वजह है, या कुछ और कुदरत के कहर ने छिना लोगों से उनका सुख चैन, न बची उनकी पास सोने के लिए ज़मीन, न रहने के लिए आशियाना, कुछ ऐसा ही है इंडोनेशिया में बाढ़ और भूस्खलन की ताबाही का आना)

इंडोनेशिया में Torrential Rains के कारण आई बाढ़ ने मचाया कहर

Torrential Rains
Image Source-Social Media

 इंडोनेशिया में बीते तीन दिनों इंडोनेशिया की जनता घोर बाढ़ और भूस्खलन आपदा से जूझ रही है , जिस कारण अब तक वहां 23 से अधिक लोग लापता है।

इंडोनेशिया की राष्ट्रीय आपदा बचाव एजेंसी के प्रवक्ता रादित्य जाती ने इस बात की पुष्टी करते हुऐ लोगो का बचाव शुरु किया है। बारिश और मलबा गिरने से इंडोनेशिया के लोगों के बीच भगदड़ मच गई।

आनन फानन में लोग इधर उधर भागने लगे है। हालांकि बचाव कर्ताओं ने अब तक 50 मृत लोगों और 20 से अधिक घायल लोगों को निकाला है। इंडोनेशिया में आई इस बाढ़ का कारण कई दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश है। इंडोनेशिया में घन घोर बारिश के कारण ही यह तबाही मची है।

राष्ट्रपति जोको विडोडो ने जताई जनता के प्रति संवेदना

Torrential Rains
Image Source-Social Media

अगर इंडोनेशिया की सुदूर पूर्व फ्लोर्स क्षेत्र की नगरपालिका के द्वारा उठाए गदए कदमों की बात करें तो वह लोगों के बीच सभी उचित सुविधाऐं जैसे दवा , भोजन, कंबल पहुँचा रही है।

साथ ही लोगों को कठिन क्षेत्रों तक पहुँचने से भी रोक रही है। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने भी बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र में रहने वाले लोगों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है और निवासियों से खराब मौसम के दौरान सभी दिशा निर्देशों का पालन करने को कहा है, और सभी से राहत बचाव कार्यों को अंजाम दिऐ जाने का आश्वासन दिया है।

Torrential Rains को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

जो क्षेत्रों को छोड़ कर भाग गए थे वह आश्रय स्थलों में है वहीं जो अपने घरों में है वह वहीं शरण लिए हुए है। इंडोनेशिया की मौसम एजेंसी ने कहा है कि सेरोजा चक्रवात ने सोमवार को तिमोर द्वीप के दक्षिण- पश्चिम में कड़ी तबाही मचाई है।

इसे भी पढ़े:-5 राज्यों में नए चुनावी समीकरण के आसार !! BJP या कांग्रेस कौन हैं कमज़ोर ?

एंजेंसी ने अगले 24 घंटो को और भी खतरनाक बताया है, जिसमें और भी अधिक बारिश Torrential Rains , लहरें और हवाएं चल सकती है, पर सवाल यहां यह है कि हर 2 या 3 सालों में इंडोनेशिया में बाढ़ , सुनामी या भूस्खलन के कारण जो तबाही मच जाती है, उसपर इंडोनेशिया की सरकार कोई ठोस तैयारी क्यों नहीं करती।  मौसम विभाग को आने वाली सुनामी Torrential Rains का जैसे अंदेशा लगता है उस पर फौरन सरकार पहले से तैयारी क्यों नहीं करती?

रिपोर्ट- रुचि पाण्डें

मीडिया दरबार

शेयर करें
COVID-19 CASES