पर्यटन

खूबसूरत समुद्री तटों को अपने आप में समेटे हुए है यह द्वीप

सुन्दर समुद्री तट, नीला पानी और जलीय खेलकूद के लिए विश्वभर में प्रसिद्ध है भारत का एक पर्यटन स्थल| अरब सागर के बीच स्थित यह खुबसूरत और मशहूर पर्यटन स्थल है लक्षद्वीप| यह द्वीप भारत के सुदूर दक्षिण-पश्चिम इलाके में स्थित है। लक्षद्वीप भारत का सबसे छोटा केंद्रशासित प्रदेश है, जो दक्षिण भारतीय राज्य केरल के समुद्री तट से करीब 200 से 300 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। लक्षद्वीप द्वीप समूह में कुल क्षेत्रफल 32 वर्ग किलोमीटर है।

सुन्दर समुद्री तट

लक्षद्वीप के सुन्दर और लम्बे समुद्री तट पर्यटकों को अपनी तरफ लुभाते हैं| अगर आप शांत वातावरण में प्रकृति की सुन्दरता का आंनद लेना चाहते हैं और समुद्री तट पर निश्चिंत बैठ कर धूप का आनंद लेते हुए पंछियों को उड़ते हुए देखना चाहते हैं| तो  लक्षद्वीप के समुद्री तट से बेहतर जगह कोई और नहीं हो सकती है| यहाँ हवाओं के साथ झूमते ताड़ के वृक्ष भी आपका मनोरंजन करेंगे| समुद्र तट पर बिखड़े हुए आकर्षक और खूबसूरत मूंगे भी तटीय खूबसूरती में चार चाँद लगाते हैं|

 लक्षद्वीप में घूमने लायक अन्य जगहें

कवरत्ती

लक्षद्वीप के द्वीपों में कवराट्टी एक खूबसूरत द्वीप है। पर्यटकों के मनोरंजन के लिए यहां कई तरह के जलीय खेलकूद उपलब्ध है। इस जगह पर कुछ बहुत ही खूबसूरत मस्जिदें भी हैं, जो समृद्ध प्राचीन भारतीय वास्तुकला के अद्भुत नमूने हैं। यहां एक मरीन एक्वेरियम भी है जी यहाँ के जलीय जीवन को प्रदर्शित करता है|

मिनिकॉय
अर्द्धचंद्राकर द्वीप इस क्षेत्र के सबसे बड़े लगून में से एक है। यह मालदीव जैसा दिखता है| इस द्वीप पर महत्वपूर्ण स्मारक के तौर पर 1885 में बना एक लाइटहाउस है। पर्यटकों के रुकने के लिए इस द्वीप पर कई कॉटेज भी बने हैं।

काल्पेनी
इस मनोरम द्वीप पर कोई मनुष्य नहीं रहता, लेकिन यह एक बहुत बड़ा छिछला लगून है। काल्पेनी शहर भारत का पहला शहर है, जहां लड़कियां सबसे पहले स्कूल गई थी। काल्पेनी शहर में मोइदीन मस्जिद है, जो इस द्वीप के सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है।

अगट्टी
यहां आपको सांसों को रोक देने वाला दृश्य देखने को मिलता है। प्रवाल भित्तियां और समुद्री हवा में झूमते नारियल के पेड़ बेहतरीन नजारा पेश करते हैं। अगट्टी द्वीप को लक्षद्वीप समूह का द्वार कहा जाता है। इस द्वीप के समुद्री तट भारत के सबसे अच्छे समुद्री तटों में शुमार हैं।

कदमात
यह धूप सेंकने और जलीय खेलकूद के लिए आदर्श स्थान है। समुद्री संपत्ति के लिहाज से यह द्वीप बहुत समृद्ध है। कदमात में पर्यटकों के लिए स्कूबा डाइविंग, स्नॉर्कलिंग और तैराकी के कई विकल्प उपलब्ध हैं।

बंगारम
अश्रु के आकार के इस निर्जन द्वीप पर शानदार समुद्र तट और सुंदर लैगून है। यह खूबसूरत द्वीप सभी परेशानियों और चिंताओं तनाव कम करने के लिए एक बहुत अच्छा अवसर देता है।

पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय
लक्षद्वीप कभी भी जाया जा सकता है| लेकिन यहां अक्टूबर से अप्रैल के बीच यात्रा करना सबसे अच्छा माना जाता है। यहां का तापमान आम तौर पर 30 डिग्री से ऊपर नहीं जाता।

लक्षद्वीप कैसे पहुंचें

लक्षद्वीप जाना निश्चित ही एक दुष्कर कार्य है| लेकिन अगर हम पहुंचना चाहते हैं तो हवाई, समुद्री और फिर सड़क मार्ग से  वहां पहुँच सकते हैं| लक्षद्वीप के द्वीपों पर जाने के लिए पर्यटकों को पहले अनुमति लेनी पड़ती है|

हवाई मार्ग से
केरल के कोच्चि एयरपोर्ट से लक्षद्वीप के अगट्टी एयरपोर्ट के लिए नियमित उड़ाने जाती हैं|

समुद्री मार्ग से
लक्षद्वीप पहुंचने के लिए जहाज से यात्रा करना भी एक अच्छा विकल्प है। कोच्चि (कोचीन) से लक्षद्वीप के लिए कई यात्री जहाज जाते हैं। यह यात्रा 18 से 20 घंटे की है। इन जहाजों पर कई तरह की आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध हैं। हालांकि, मानसून के दौरान जहाज सेवा बंद रहती है।

ठहरने की व्यवस्था
द्वीप समूह पर आवास तलाशना इतना मुश्किल भी नहीं है। हर साल यात्री बढ़ते जा रहे हैं, इस वजह से सुविधाएं भी बढ़ रही हैं। कई नए होटल और लॉज बन रहे हैं। यह होटल हर तरह के पर्यटक को उसकी बजट के मुताबिक सुविधाएं देने के लिए डिजाइन हैं।

केंद्रशासित प्रदेश में ज्यादातर होटलों के ठिकाने बहुत खूबसूरत है। होटल की खिड़की से समुद्र के नीले पानी के बीच हरियाली का नजारा आपको यह बताने के लिए काफी है कि यह स्थान पर्यटकों के लिए स्वर्ग क्यों है। होटल के कमरे स्टाइल के साथ डिजाइन किए गए हैं। आपके चुने विकल्पों के मुताबिक ही सुविधाओं की श्रेणियां तय होती हैं। इन द्वीपों में कई श्रेणियों का आवास उपलब्ध है। आपको अपनी जरूरतों और बजट के मुताबिक सूट्स चुन सकते हैं। जो पर्यटक आलीशान तरीके से छुट्टियां बिताना चाहते हैं, उनके लिए यहां कई डीलक्स होटल्स हैं। लेकिन कई बजट होटलों और लॉज भी हैं, जो फिक्स बजट के साथ आए पर्यटकों को सभी सुविधाएं मुहैया कराते हैं। । इसके अलावा यहां प्राकृतिक वस्तुओं से बने और इको-फ्रेंडली खूबसूरत कॉटेज उपलब्ध हैं | सरकारी झोपड़ियां और होटलों में भी ठहरने का उत्तम प्रबंध है|

द्वीप पर आपको स्कूबा डाइविंग, स्नोर्कलिंग, कयाकिंग, कैनोइंग, विंडसर्फिंग, याच और इसी तरह की कई अन्य रोमांचक गतिविधियां मिल जाएंगी।

लक्षद्वीप में अगर आप शौपिंग करना चाहते हैं तो ये वस्तुएं हो सकती हैं आपकी पसंदीदा

  • समुद्री वस्तुओं के हस्तनिर्मित जेवर, खूबसूरत एक्वेरियम, मछलियों के डिब्बाबंद बिस्कुट, नारियल के छिलकों की कलाकृतियां

  • कछुए की खाल से बनी घरेलू वस्तुएं, ऑइस्टर्स

यात्रा के लिए सलाह

  • लक्षद्वीप द्वीप समूह की यात्रा के लिए प्लानिंग जरूरी है। बिना यात्रा परमिट के आप लक्षद्वीप नहीं जा सकते और यह परमिट बनने में कम से कम दो दिन तक लग जाते हैं।

  • यदि आप पीक सीजन में यात्रा की योजना बना रहे हैं तो लक्षद्वीप में रुकने की व्यवस्था करना दुष्कर हो सकता है। इस वजह से यात्रा शुरू करने से पहले ही अपने आवास की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित कर लें।

  • इस द्वीपसमूह पर रात को यात्रा न करें क्योंकि यह निर्जन द्वीप हैं। आप गुम हो सकते हैं या चोरों या लुटेरों के हत्थे चढ़ सकते हैं।

(पंकज कुमार, मीडिया दरबार) 

शेयर करें
Live Updates COVID-19 CASES