Uncategorized राष्ट्रीय

क्या सच में जनसंख्या नियंत्रण कानून देश के मुस्लिमों के खिलाफ है ?

क्या सच में जनसंख्या नियंत्रण कानून देश के मुस्लिमों के खिलाफ है ?

 

जनसंख्या नियंत्रण कानून

image source : Social Media

 

एक बार फिर जनसंख्या नियंत्रण कानून का जिन्न अपनी बोतल से बाहर आ गया है. अब चर्चा ये है कि, यह कानून, सिर्फ एक धर्म विशेष के लिए लाया गया है, और जो लोग ये चर्चा को मीडिया में, सोशल मीडिया पर जोर शोर से प्रचारित कर रहे हैं, वही लोग, एक विशेष समुदाय के अन्दर जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर गंभीर रोष की भावना को भी, जागृत करने का प्रयास कर रहे हैं.

 

आप सब लोग, दुनिया के सबसे बड़े पत्रकार, रवीश कुमार जी को तो जानते ही होंगे, जी हाँ मैं बात कर रहा हूँ उन्हीं एकमात्र ईमानदार, सच्चे और और दिन रात मोदी विरोध का ही, राग अलापने वाले रविश कुमार जी की. ये वही पत्रकार हैं,

जिन्हें 70 साल से भी अधिक समय तक, देश को लूटने वाली कांग्रेस पार्टी से ले कर, खालिस्तान आन्दोलन, कश्मीरी अलगावादी और अब ताज़ा ताज़ा JNU के टुकड़े टुकड़े गैंग और देश भर के ऐसे ही तमाम नेताओं की छवि सुधारने का प्रयास का स्वयंभू ठेका मिला हुआ है.

जो खुद को और अपने से मिलते जुलते कुछ और लोगों को छोड़ कर, सबको गोदी मीडिया बता देते है. उनका एक फेमस शो प्राइम टाइम चलता है, जिसमे इनके द्वारा इस शो में चलाये गए तथ्यों पर काफी सवाल भी खड़े होते है, जैसे फेक ट्वीट करवा कर उसको अपने प्राइम टाइम शो में दिखाना, वगैरह वगैरह. खैर मैं इन सब चीजो में ना जा कर अपना और आपका समय व्यर्थ नहीं करना चाहूँगा.

 

आप में से कुछ लोगों ने, उनका 13 तारीख का, प्राइम टाइम जरुर देखा होगा, उसकी बात आपके सामने रखूँगा.

 

 

 

जन्संख्या नियंत्रण कानुन को धर्म से जोड़ कर कुछ लोग चमकाने लगे अपनी राजनीती

image source : Social Media

 

दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार ने, प्रदेश में बढती जनसंख्या को, देखते हुए जनसंख्या नीति का कानून ड्राफ्ट तैयार किया है. इस कानून के, ड्राफ्ट के, तैयार होते ही कुछ लोग इसको धर्म से जोड़ कर अपनी अपनी राजनीती चमकाने लगे, और देखते ही देखते यह एक बड़ा मुद्दा बन गया. यहाँ तक कि, कुछ लोगों ने इस मुद्दे को लेकर बड़े बड़े, और विवादित बोल बोलना भी शुरू कर दिया.

 

रवीश जी, जैसा हमेशा से करते आये है, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा लिए गए हर फैसले को, तमाम इधर उधर के तथ्यों का हवाला दे कर, गलत साबित करना. 13 तारीख को प्राइम टाइम में रवीश जी ने, प्रधानमंत्री मोदी के कुछ, पुराने विडियो क्लिपस दिखाए, जिसमे प्रधानमंत्री मोदी भारत कि आबादी को अपनी ताकत बता रहे है. इन क्लिप्स को दिखा कर, रवीश कुमार,

यह कह रहे थे कि, प्रधानमंत्री जनसंख्या को, अपना ताकत बताते थे और अब जनसंख्या नियंत्रण की नीति का गठन इनकी पार्टी कर रही है. अब यहाँ रवीश जी को कौन समझाए कि, किसी भी चीज की अधिकता ठीक नहीं होती है. प्रधानमंत्री के इस बयान का मतलब यह था कि, हमारी आबादी हमारी अंदरूनी ताकत है, लेकिन इसका मतलब बिलकुल भी नहीं है, कि हम इस आबादी को अंधाधुंध बढ़ाते चले जाए.

 

जिस हिसाब से अपने देश कि जनसंख्या बढ़ रही है, उस से सभी को परेशानी झेलनी पड़ ही रही हैं. चाहे वो शिक्षा का क्षेत्र हो, भोजन वितरण प्रणाली हो, आवास कि उपलब्धता हो या स्वास्थ्य सुविधाएँ हों. हर प्रकार की समस्याएँ तब बढ़तीं हैं, जब जनसंख्या बेहिसाब बढ़ने लगती हैं.

 

बच्चों की पैदाइश, अल्लाह का कानून है : शाफिकुर्रहमान बर्क

image source : Social Media

जनसंख्या नियंत्रण कानून जैसे संवेदनशील लेकिन, गंभीर मुद्दे पर, समाजवादी पार्टी के सांसद शाफिकुर्रहमान बर्क ने दलील देते हुए कहा कि, “बच्चों की पैदाइश, अल्लाह का कानून है, और कुदरत से टकराना ठीक नही है”. ये समाजवादी पार्टी के एक सांसद के बोल है, आपको बता दें कि, बर्क साहब, अखिलेश यादव के बेहद करीबी भी माने जाते है.

 

BJP के नेता दें पहले अपने वैध और अवैध संतानों के बारे में जानकारी : सलमान खुर्शीद

image source : Social Media

कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता सलमान खुर्शीद ने भी जनसख्या नीति कानून का विरोध करते हुए, विवादित बयान भी दे दिया. उन्होंने अपने इस विवादित बयान में कहा है कि, भारतीय जनता पार्टी के मंत्री और नेता पहले अपने वैध और अवैध संतानों के बारे में जानकारी दें.

 

 

जनसंख्या कानून के तहत सिर्फ मुस्लिमों को ही टारगेट किया जा रहा है : कांग्रेस

 

image source : Social Media

उधर कांग्रेस का कहना है कि, इस जनसंख्या कानून के तहत, एक विशेष धर्म यानि कि, सिर्फ मुस्लिम धर्म को ही टारगेट किया जा रहा है. जबकि सच्चाई यह है कि, जनसंख्या नियंत्रण कानून के ड्राफ्ट में, कही पर भी किसी भी धर्म का जिक्र तक नही किया गया है.

भारतीय जनता पार्टी का जनसंख्या नियंत्रण कानून की नीति को लेकर कहना हैं, कि यह सिर्फ विकास को मद्दे नजर रख कर लाया गया है. इसमें सभी धर्म को सामान द्रष्टि से देखा जायेगा. इस नीति और कानून को, किसी भी धर्म के खिलाफ इस्तेमाल करने के लिए नहीं लाया गया है.

 

यह खबर भी पढ़े : पैगासस स्पाइवेयर किसके कहने पर करता था जासूसी !

 

भारत में हर रोज पैदा होते है, 70 हजार बच्चे

image source : Social Media

क्या आपको पता है कि, आज भारत दुनिया में सबसे ज्यादा बच्चे पैदा करने वाला देश बन चुका है ? आंकड़ों के अनुसार भारत में हर रोज़, लगभग 70 हज़ार बच्चे जन्म ले लेते हैं. भारत की जनसंख्या वर्ल्ड मीटर के अनुसार इस वक्त 1 अरब 38 करोड़ से भी ज्यादा है. छेत्रफल के दृष्टी से, भारत दुनिया में 7वें नंबर पर आता है.

 

भारत से तीन गुना छेत्रफल अमेरिका का है, जबकि अमेरिका कि कुल आबादी, मात्र 33 करोड़ 94 लाख है. सही माइने में, हमारे भारत का जितना छेत्रफल है, उस हिसाब से, भारत की आबादी मात्र 15 करोड़ होनी चाहिए.

 

हमारे देश भारत में, जितनी पानी की उपलब्धता है, उस हिसाब से, हमारे देश की आबादी मात्र 30 करोड़ ही होनी चाहिए. जबकि हमारे देश की कुल जनसंख्या 1 अरब 38 करोड़ से ज्यादा है.

 

जनसंख्या नियंत्रण के कानून के बिना, देश का सही और उचित विकास होना संभव ही नही है. सरकार जब तक 2 करोड़ घर बना कर देगी, तब तक 10 करोड़ लोग नए घर कि तलाश के लिए आ चुके होंगे.

हमारा मानना है कि, जनसंख्या नियंत्रण कानून को जल्द से जल्द रास्ट्रीय स्तर पर लागू किया जाए, तभी देश का विकास संभव है.

 

रवीश कुमार जी आप एक वरिष्ठ पत्रकार है, और पत्रकारिता को, देश के लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहा गया है. देश के हित में, आपको देश के लोगों के सामने, सत्य और उचित तथ्य रखने चाहियें, लोगों को गुमराह नही करना चाहिए. देश की बढती जनसंख्या पर कानून लाना कितना जरुरी है. ये आपको भी अच्छी तरह से पता है, लेकिन आपको मोदी विरोध का एक मात्र एजेंडा जो चलाना है.

 

BJP मुस्लिमो को टोपी से टाई की तरफ ले जाना चाहती है : मोहजिन रज़ा

image source : Social Media

ऐसा नहीं है कि सभी मुस्लिम, जनसंख्या नियंत्रण नीति का विरोध कर रहे हैं. बल्कि ज़्यादातर पढ़े लिखे मुस्लिम, आगे आ कर, इस नीति का समर्थन भी कर रहे है.  उत्तर प्रदेश के राज्य मंत्री मोहजिन रज़ा ने कहा कि, जनसंख्या नियंत्रण पॉलिसी का आना बहुत जरुरी है. उन्होंने आगे कहा कि, भारतीय जनता पार्टी मुस्लिमो को टोपी से टाई की तरफ ले जाना चाहती है, और ये लोग समझ नही पा रहे है. उन्होंने यह भी कहा कि, बढती आबादी हर मुसीबत की जड़ है.

 

देखे विडियो : 

 

रिर्पोटनितीश कुमार कुशवाहा, मीडिया दरबार

 

 

 

 

 

शेयर करें
COVID-19 CASES