विचार

कागज के टुकड़े से होगा MOBILE PHONE चार्ज..

क्या कागज से बिजली पैदा हो सकती हैं?

कभी आपने सोचा हैं की क्याकागज से बिजली पैदा हो सकती हैं जिससे आप अपना कोई भी Electronic सामान आसानी से चार्ज कर सकते हो।अब आप कहंगे ऐसा कैसे हो सकता हैं ऐसा हो सकता हैं|

 

वो भी अमेरिका ध्दारा बनाए जा रहे एक यंत्र के जरिए। अमेरिका के वैज्ञानिक एक ऐसा यंत्र बना रहे है जो पूरी तरह से कागज का बना हुआ है। जिसको दबाने से बिजली पैदा होती है।

कागज से भविष्य में होगा आपका फोन चार्ज

कागज
image source-social media

scientist इस बात का दावा कर रहे हैं कि भविष्य में लोग ऐसे यंत्रों को अपने पास रखेंगे तो उनकी ऊर्जा संबंधी दिक्कत खत्म हो जाएगी.जैसे मोबाइल चार्ज करना, उसका चार्जर चार्ज करना, earphone चार्ज करना आदि।

आपको बताते हैं की ये यंत्र काम कैसे करता है?

आमतौर पर सर्दियों पर आपके बाल स्वेटर से चिपक जाते हैंयाआप किसी को छूते हैं तो करंट लगता है और अगर आप गुब्बारे को अपने बालों से चिपकाते हैं तो वो चिपके रहते हैं|

इसे भी पढ़े:-Sushant के Birthday पर बहन Shweta हुई भावुक

ये एक तरह की Static Power होती है। यानी किसी सतह पर पॉजिटिव या निगेटिव चार्ज जो विपरीत चार्ज के सामने आते ही बिजली पैदा करता है। ऐसा ही है ये कागज का यंत्र और इस यंत्र को बनाने के लिए लेजर से काटा गया है।जिसके उपर कंडक्टिव मटेरियल की कोटिंग की गई है। और जब आप इसे दबाएंगे।तब इसमें से बिजली पैदा होगी|

जिसTriboelectric Effect कहते हैं।ये तब होता है जब दो चार्ज्ड सतहों के बीच इलेक्ट्रॉन्स का आवागमन होता है. यही बिजली आपको महसूस होती है कई बार।

इसे भी पढ़े:-MAGNETIC HILL एक बार जरुर जाए यहाँ, खड़े खड़े चलती है गाडी

Triboelectricityएक बेहद अनजानी ताकत है। जिससे पिछले कुछ सालों से इंजीनियर्स इसे अलग-अलग तरीके से उपयोग में लाने के लिए इनोवेशन कर रहे हैं। Georgia Institute of Technology के इंजीनियर Zhong Lin Wang ने Triboelectricity जेनरेटर बनाया है जो बहुत सी जगहों में उपयोग किया जा सकता है|

जैसे पॉलीमर कपड़ों में, टचस्क्रीन में, सोडा बॉटल्स या कोल्ड ड्रिंक्स की बोतल में.TRIBOELECTRIC जेनरेटर  कागज काऐसा यंत्र  हैं जिसका उपयोग कहीं भी और कही भी किया जा सकता हैं।

जैसे की जब भी कोई कपड़े पहने, कोई टचस्क्रीन को छुए या किसी भी सतह को हाथ से दबाए या घर्षण करे तो बिजली पैदा होने लगेगी। अगर ये इनोवेशन हो गया तो बिजली की खपत का आधा उत्पादन ऐसे ही हो जाएगा।

Zhong Lin Wang और उनकी टीम ने पहले एक सैंडपेपर को लेजर से चौकोर आकार में छोटे-छोटे खांचों में काटा, फिर उसके ऊपर सोने और दूसरे कंडक्टिव मटेरियल की पतली कोटिंग कर दी।

इसके बाद इन सबको जोड़कर रोह्म्बी जैसा बना दिया। बिजली पैदा करने वाली कागज की इस मशीन को जेब या पर्स में रखकर कहीं भी ले जाया जा सकता है। इस मशीन को कुछ मिनट तक दबाने से 1 वोल्ट एनर्जी पैदा होती है। इतनी power से आप इमरजेंसी में अपने वायरलेस रिमोट कंट्रोल या किसी छोटे डिवाइस को चार्ज कर सकते हैं

रिपोर्ट -निशांत कुमार

मीडिया दरबार

शेयर करें
COVID-19 CASES