राजनीति

भारत में हिंदु जातियों का खतरे में अस्तित्व !!

क्यों खतरे में है हिन्दू धर्म

भारत में रह रहें हिंदुओं को जगाना बहुत ज़रुरी हैं। भारत में रह रहें हिंदुओं की रक्षा का, सवाल यहीं हैं कि भारत में क्या हिंदु अब अल्पसंख्यक होते जा रहें है और क्या हिंदु अब अपनी ही राष्ट्रभूमि में अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहें?

फ्रांस में जो हुआ उसके खिलाफ मुस्लिमों के पक्षधर दुनिया भर में अपने झंडे लेकर खड़े हो गए पर पाकिस्तान में आए दिन जो भी अल्पसंख्यक हिंदुओं के साथ हो रहा है, उसके खिलाफ कितने हिंदु विरोध प्रदर्शन करते है?

हिंदुस्तान में हिंदु नहीं है सुरक्षित?

भारत
image source-social media

कोई भी धर्म या समुदाय सुरक्षित आखिर कब तक माने जा सकते हैं। इस सावल के कई जवाब अपनी अपनी विचारधारा के अनुसार अलग अलग हो सकते है। कुछ लोगों के अनुसार अगर आपके धर्म का कोई राष्ट्र नहीं है तो अपने आप को खोने के लिए बहुत अधिक इंतजार मत कीजिए।

दूसरी विचारधारा के अनुसार यदि विश्व में आपकी जाति की संख्या कम होगी तो आपके लिए लड़ने के सैनिक कम ही होंगे। तीसरा जवाब यह भी हो सकता हैं कि अघर आप अधिक सहिष्णु और अहिंसा को फॉलो कर रहें है तो आप एक ना एक दिन ज़रुर खुद को घिरा हुआ ही पाऐंगे। आप किसी भी जवाब को अपना जवाब बना सकते हैं। हो सकता है वामपंथियों के पास इससे भी कहीं अधिक अद्भुत जवाब हो।

2070 तक क्या दुनिया में सबसे बड़ा होगा इस्लाम धर्म?

भारत
image source-social media

लेकिन हम बात यहाँ भारत की कर रहें हैं हम जिस भारत में रहते हैं वहाँ सभी धर्म औऱ जातियों को समान रुप से देखे जाने की बात की जाती हैं पर क्या वाकिय भारत में अब वो समय आ गया जब हिंदुस्तान में ही हिंदु सुरक्षित नहीं है।

भारत में जनसंख्या की दृष्टि पर बात करें तो एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि 2050 तक दुनिया में मुस्लिमों की जनसंख्या ईसाइयों के बराबर हो जाएगी|

इसे भी पढ़े:-Arnab Whatsaap Chat Leak में सरकार की चुप्पी पर उठे सवाल

इसका मतलब ये हुआ कि 2070 तक इस्लाम दुनिया में सबसे बड़ा धर्म हो जाएगा और यह रिपोर्ट ये भी बताती है कि 2050 तक भारत सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी वाला देश होगा|

इतिहास में तोड़े गए मंदिरों के लिए कौन है ज़िम्मेदार

भारत में अभी फिलहाल इस सच्चाई पर किसी की नज़र ना जाऐं परंतु यह सच हैं कि अब भारत में हिंदु शायद अपने ही अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहा हैं। कई वामपंथियों का मानना हैं कि यह केवल कट्टरपंथी हिंदुओं द्वारा एक भ्रम फैलाया जा रहा है|

जिससे हिंदुओं को उग्र बनाया जा सकें पर , वह बुध्दीजीवी जो यह मानते हैं कि यह केवल एक भ्रम हैं उन्हें एक बार यह ज़रुर सोचना चाहिए कि भारत में जब जब हिंदु मंदिर तोड़े गए, जब जब हिंदुओं की आस्था से खिलवाड़ किया तब भारत के धर्मनिर्पेक्ष की विचारधारा को अपना मान मानने वाले कहाँ गुम हो जाते हैं|

इसे भी पढ़े:-गाँधी नेहरु परिवार के बिना क्या नहीं है कांग्रेस का कोई अस्तित्व ?

क्यों हमेशा केवल हिंदु धर्म को ही निशाना बनाया जाता हैं , इतिहास की ओर ध्यान दे तो ना जानें कितने हिंदु मंदिर जिसमें गुजरात का सोमनाथ मंदिर, राम जन्म भूमि आयोध्या, कृष्ण जन्मभूमि आयोध्या , मोढेरा सूर्यमंदिर और ना जाने कितने अनगिनत मंदिरो का इतिहास ऐसा हैं जिन्हें भारत में बाहरी ताकतों द्वारा तोड़ दिया गया था।

अब भी वक्त ज्यादा बदला नहीं है। आज भी पाकिस्तान में आए दिन हमारे हिंदु भाईयों के साथ होते अत्याचारों पर हिंदु समाज केवल चुप्पी ही साधे है, लेकिन भारत सरकार को इस पर गौर कर इसका समाधान करना चाहिए

रिपोर्ट-रूचि पाण्डेय

मीडिया दरबार

शेयर करें
COVID-19 CASES