पर्यटन

लॉकडाउन के बाद इन 5 जगहों पर जरुर जाए, तनाव और थकान भागएगे दूर ये जगह….|

lockdown

कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन में लोग रोज के शेड्यूल से परेशान हो चुके है| लगातार 6 महीने से काम करके या खाली घरों में कैद रहकर लोग तनाव का शिकार हो गए है| इस चीज़ का महिलाओं पर असर ज्यादा देखा जा रहा है, क्योंकी वो घर और ऑफिस दोनों की जिम्मेदारी निभाती है| ऐसे में वो थकान के साथ ही तनावग्रस्त हो जाती है | तनाव और परेशानी में लोग किसी भी काम में एकाग्र नहीं हो पाते है| उनको मानसिक और शारीरिक परेशानियों जैसे दर्द , चिंता, नींद न आना और थकान होने लगती है| ऐसे स्तिथि में शरीर और दिमाग को डी-स्ट्रेस करने की आवश्यकता होती है, जो लम्बी छुट्टी के साथ ही संभव है| आज हम भारत के कुछ ऐसे स्थानों के बारे में बताने जा रहे है,जहाँ जाकर आप दिमाग को फिर से तरोताजा और तनाव को कम कर सकते है| आइये इन जगहों के बारे में आपको विस्तारपूर्वक बताते है|

औली एक हिल स्टेशन है जो स्कीइंग और ट्रेकिंग जैसी एडवेंचर एक्टिविटी के लिए काफी अच्छा है| इस जगह में आपको बर्फ से ढके पहाड़,घास के मैदान और शंकु के घने जंगल देखने को मिलेगे जो एक ख़ास तरह का दृश्य होगा| यहाँ आपको देवदार के बहुत से पेड़ देखने को मिलेगे, जिनकी महक आप यहाँ की ठंडी और ताज़ी हवाओ में आप महसूस कर सकते है| यहाँ पर नंदा देवी के पीछे उगते हुए सूर्य को देखकर आप खुद हो जाएगे| यहाँ होने वाली बर्फ़बारी और खुला आसमान आपको रोमांचित कर देगा| आप यहाँ दिसम्बर से फ़रवरी के बीच यहाँ घुमने आ सकते है|

अगर प्रकृति के करीब जाना है तो केरल आपके लिए बहुत अच्छी है| बैकवाटर्स केरल का एक परफेक्ट डेस्टिनेशन माना जाता है| यहाँ पहुचकर आप बैकवाटर के सुन्दर दृश्यों का मजा ले सकते है| यहाँ का शांत समुद्र तट, सुहावना मौसम, हरे भरे हिल स्टेशन,दूर दूर तक फैले पहाड़ और हरियाली इस स्थान को काफी आकर्षक बना देती है| केरल का यह बैकवाटर दुनिया के सबसे लोकप्रिय पर्यटनो स्थलों में से एक है| दिसम्बर से फरवरी के बीच इस जगह पर जाने का अच्छा समय है|

पुद्दुचेरी में  समुंद्र तटों पर चलना आपको एक ख़ास तरह का अनुभव देता है| कई पर्यटक यहाँ इसके समुद्र तटों और तत्कालीन सभ्यता की झलक पाने के लिए आते है| केवल पर्यटन की दृष्टी से ही नहीं बल्कि आध्यात्मिक और धार्मिक दृष्टी से भी यह स्थान बहुत महत्वपूर्ण है| पुद्दुचेरी में भारतीय और फ़्रांसीसी वास्तुकला और संस्कृति का बेहतरीन मिश्रण देखने को मिलता है| आप यहाँ अरबिंदों आश्रम में मुफ्त में ठहर सकते है| यहाँ पहुचकर आपको दिल और दिमाग दोनों को शान्ति मिलेगी|

अरुणाचल प्रदेश के तवांग को प्रकर्ति ने खूबसूरती नवाजा है| इस शांत और ख़ूबसूरत जगह में पहुचकर आपकों एक ख़ास तरह का आनंद प्राप्त होगा| आपको लगेगा की जैसे भगवान् ने इस जगह को अपने हाथो से बनाया है| ये जगह प्राक्रतिक रूप से बहुत ख़ूबसूरत है| इस जगह को पर्यटकों के बीच छिपे हुए स्वर्ग के नाम से जाना जाता है| यहाँ बोध मठ है जो दुनियाभर में प्रसिद्द है| तवांग जाने के लिए आपको गुहावटी से सड़क मार्ग से जाना होगा| इस जगह में मार्च से जून के बीच जाना सबसे अच्छा होता है|

कसोल हिमाचल प्रदेश का एक बेहतरीन हिल स्टेशन है| यहाँ पर आप रॉक क्लाइम्बिंग, रिवर राफ्टिंग, आदि जैसी कई एक्टिविटीज कर सकते है| यहाँ कसोल गाँव एडवेंचर लवर्स के लिए बेहद ख़ास है,क्योंकि यहाँ आराम से प्रकृति की गोद में तारों की छाव का मजा ले सकते है| यहाँ बहती पार्वती नदी और आसपास चारों और खड़े पहाड़ को देखकर दिल खुश हो जाता है, इसलिए पार्वती घाटी में कसोल पर्यटकों की प्रिय जगह है| शांत जगह की तलाश में पर्यटक यहाँ पहुचते है | कसोल घुमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से जून के बीच होता है|

ये पाचों जगह लॉकडाउन के बाद घुमने वाली सबसे सेफ जगह है| यहाँ पर आप अपनी फॅमिली को बेफिक्र लेकर जा सकते है| कोरोना के बाद घुमने वाली सबसे अच्छी और बेस्ट जगह है|

नेहा परिहार,मीडिया दरबार

शेयर करें
COVID-19 CASES