खेल

फिर विवादों में टीम इंड़िया

भारत में क्रिकेट को सिर्फ एक खेल ही नही समझा जाता बल्कि इसे पूजा भी जाता है। भारत में क्रिकेट 18वीं सदी से खेला जा रहा है जब देश में अंग्रेजों का राज था। यूंह भी कहा जा सकता है कि उन्हीं की वजह से क्रिकेट का नाम सूनने को मिला। राष्ट्रीय क्रिकेट टीम ने अपना पहला मैच लॉर्ड्स में 25 जून 1932 को खेला। जिसके बाद भारत ने कभी पीछे मुड़कर नही देखा। वर्तमान में भारत दुनिया की एक मात्र टीम है जिसके पास आईसीसी की सभी प्रमुख ट्राफियां हैं। 30 मई से इंग्लैंड में 12वें विश्व कप का आगाज हो चुका है जिसमें दुनिया की टॉप 10 टीमें हिस्सा ले रही है। भारत भी विश्व कप अपने दावेदारी पेश करने इंग्लैंड पहुंच गया है। भारत ने विश्व कप में अपने पहले मैच की शुरूआत भले ही अभी की ना हो पर एक विवाद की शुरूआत जरूर कर दी है। मीडिया और भारतीय टीम के रिश्ते तब से खराब हो गए हैं जब से विराट कोहली टीम के कप्तान बने हैं। जिस तरह भारतीय टीम और मीडिया के बीच में रिश्ते हुआ करते थे वैसे अब नहीं रहे हैं। मैच से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस होनी थी जिसमें भारतीय कप्तान से मैच से जुड़े विषयों पर सवाल—जवाब होने थे पर टीम का कोई भी खिलाड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस में नहीं आया। भारतीय टीम के इस रवैये से मीडिया नाराज हो गई और उसने प्रेस कॉन्फ्रेंस का बहिष्कार कर दिया। आईसीसी विश्व कप 2019 के नियम के मुताबिक टीम को अपने पूरे दिन के कार्यक्रमों के बारे में मीडिया को बताना होता है। प्रैक्टिस और मीडिया के साथ समय की जानकारी भी टीम को देनी होती है। विश्व कप खेलने इंग्लैंड भारतीय टीम 24 मई को पहुंची थी। उस दिन से लेकर मीडिया से भारतीय टीम ने एक बार ही बात की है। वैसे भारतीय टीम और विवादों का रिश्ता यह कोई नया नही है। 1999-2000 का भारत और दक्षिण अफ्रीका का मैच फिक्सिंग कांड भला कौन भूल सकता है। यह भारतीय क्रिकेट के इतिहास का ऐसा दिन हैं जिसके बारे में कोई भी बात करना नही चाहेगा। इस कांड में भारत क्रिकेट की ओर से मोहम्मद अजहरुद्दीन और अजय जडेजा का नाम उभर कर आया। इन अलावा कई सायमंड्स-हरभजन मंकीगेट" विवाद काफी चर्चा में रहा। यह नस्लभेदी मामला था जो बाद में सिडनी कोर्ट तक पहुंच गया। इस विवाद में हरभजन पर पहले तीन टेस्ट मैच का बैन लगा ​जिसके बाद बीसीसीआई के दखल के बाद इसे बाद में हटा लिया गया। 2011—12 में भारत और आस्ट्रेलिया के साथ हुए मैच में विराट कोहली पवेलियन में मौजूद दर्शकों को मिडिल फिंगर दिखाते हूए पाए जिसके बाद उन पर 50 फीसदी मैच का जुर्माना लगाया गया। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जब—जब भारत खेलने गई है तब—तब भारत का नाता विवादों से होता रहा है। भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी उस समय विवादों में घिर आए जब उनकी पत्नी ने मैच फिक्सिंग का भी आरोप लगाया। पर जांच के बाद वे निर्दोष पाए गए। अनिल कुंबले और विराट कोहली के बीच हुआ विवाद किसी से छुपा नही है। उस समय रहे भारतीय टीम के कोच रहे अनिल कुंबले ने चानक ही एक ट्वीट के जरिए अपना पद छोड़ने का फैसला किया, जिसने क्रिकेट की दुनिया में हलचल पैदा कर दी। इससे पहले कई खबरें सामने आई कि अंदर सब कुछ ठीक नहीं पर। कुंबले के पद पर रहते हुए बीसीसीआई ने चैंपियंस ट्रॉफी से कुछ दिन पहले ही भारतीय टीम के कोच पद के लिए आवेदन मंगवाने शुरू कर दिए। इसके बाद वेस्टइंडीज के लिए रवाना होने के एक दिन बाद ही अपना इस्तीफा देकर कुंबले ने सबको हैरानी में डाल दिया। भारतीय क्रिकेट में असली मोड़ तब आया जब 2013 आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग का मामला सामना आया। जिसमें श्रीसंत, अंकित चौहान औरअजीत चंदेला का नाम ​सामने आया। जिसके बाद तीनों खिलाड़ियों के मैच खेलने पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया। इसके बाद आईपीएल पर कई सवाल खड़े हूए और लिंगदोह समिति का गठन किया गया। क्रिकेट की दुनिया जिस तरह से बाहर से सुलझी हुई दिखायी देती है। पर अंदर से इसे समझ पाना उतना ही पे​चीदा

है। भारत में क्रिकेट से हर कोई किसी न किसी रूप से जुड़ा ही रहता है। क्रिकेट को पसंद ना करने वाला भी मैच के बारे में एक बार पूछ ही लेता कि आखिर आज मैच कौन जीता? ​इंग्लैंड में चल रहे विश्वकप में भारत ने 5 मई को अफ्रीका को हरा, जीत के साथ अपना पहला कदम रख दिया है। वैसे अभी भारत को विश्चकप में जीतने के लिए लम्बी दूरी तय करनी है। उसी के बाद भारत फिर से विश्वकप को हासिल कर पाएगा। पर मैच के साथ विवादों का सिलसिला इस सफर से जुड़ता रहेगा। अब देखना यह होगा कि 15 जून को पाकिस्तान के साथ होने वाले मैच में भारत का रवैया क्या रहता है। जब—जब भारत का मैच पाकिस्तान से होता है उसमें खिलाड़ियों की जरा सी भी लगती दोनों देशों के बीच बात का मुद्दा बन जाता है।

शेयर करें