अंतर्राष्ट्रीय

फिर बेनकाब हुआ पाकिस्तान

विश्व के सामने फिर से बेनकाब हुआ पाकिस्तान

यह खबर पूरी दुनिया में फैल चुकी है कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था अब डूबने के कगार पर पहुँच चुकी है| आतंकवादी गतिविधियों को संरक्षण देने के कारण पहले ही समूचे विश्व में बदनाम हो चुके पाकिस्तान ने खुद की बेईज्ज़ती कराने का एक नया तरीका इजाद किया है| यह तरीका है झूठ बोलने का| पाकिस्तान बार बार किसी न किसी मामले में झूठ बोलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी बेईज्ज़ती करवा रहा है| हाल के दिनों में दो ऐसी घटनाएं घटी जिन्होंने पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर झूठा साबित किया है|  हाल ही में हुए दो ऐसे मामले बताते हैं कि पाकिस्तान झूठ बोलने के मामले में कितना आगे है।

एशियन डेवलपमेंट बैंक का इनकार

कुछ ही दिनों पहले पाकिस्तान की सरकार ने यह घोषणा की थी की उसकी आर्थिक बेहतरी के लिए एशियन डेवलपमेंट बैंक(ADB) ने उसे 3.4 अरब अमेरिकी डॉलर देने की हामी भरी है| पाकिस्तान की सरकार के इस घोषणा के ठीक एक दिन बाद एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB ), इस्लामाबाद, (पाकिस्तान) के कंट्री डायरेक्टर, शियाओहॉन्ग यांग ने पाकिस्तान की इस घोषणा को सिरे से खारिज करते हुए कहा की इस बारे में एक बैठक जरुर हुई है लेकिन पाकिस्तान को 3.4 अरब अमेरिकी डॉलर की आर्थिक सहायता देने का निर्णय ADB प्रबंधन तथा बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की मंज़ूरी पर निर्भर करेगी| इसका मतलब यह हुआ कि पाकिस्तान ने 3.4 अरब अमेरिकी डॉलर की सहायता वाले मामले में झूठ बोला|

भारत को बातचीत के लिए तैयार बताया

पाकिस्तान के झूठ बोलने वाली आदत में एक नया प्रकरण सामने आया है| ताज़ा मामला यह है की पाकिस्तान के समाचार पत्र ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने गुरुवार को एक खबर में दावा किया कि पाकिस्तान की बातचीत संबंधी ताजा अपील के जवाब में प्रधानमंत्री मोदी और विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि भारत क्षेत्र की समृद्धि के लिए पाकिस्तान समेत सभी देशों के साथ वार्ता का इच्छुक है।

भारत ने पाकिस्तान के साथ वार्ता के लिए तैयार होने का दावा करने वाली पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों को खारिज करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने पाकिस्तान में उनके समकक्षों के बधाई संदेशों का उत्तर देते समय ऐसी कोई बात नहीं की थी|

भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रविश कुमार ने बताया की बिश्केक में प्रधानमंत्री मोदी से पाकिस्तान के वजीर-ए-आज़म इमरान खान की सिर्फ एक बार बात हुई थी जिसमें इमरान खान ने मोदी को चुनावों में जीत की बधाई दी थी| इसके उत्तर में प्रधानमंत्री मोदी ने सिर्फ धन्यवाद कहा था| यह एक राजनीतिक प्रक्रिया है जो चलती रहती है| इसके आगे कहीं कोई बैठक या बातचीत नहीं हुई|

कुमार ने आगे कहा कि, भारत का दृष्टिकोण स्पष्ट है कि पाकिस्तान जबतक अपनी जमींन से आतंकवादी गतिविधियों पर लगाम नहीं लगाता पाकिस्तान से कोई भी बातचीत नहीं होगी|

भारत के बातचीत के लिए तैयार होने संबंधी बयान देकर पाकिस्तान ने झूठ बोला जिसे भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने गलत साबित किया|

इस प्रकार पिछले एक सप्ताह के अन्दर यह दूसरी घटना है जब पाकिस्तान का झूठ पकड़ा गया है और वह अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर बेनकाब हुआ है|

शेयर करें
Live Updates COVID-19 CASES