खेल

BCCI की बेरुखी से परेशान अम्बाती रायडू का संन्यास

भारतीय मध्यक्रम के बल्लेबाज अम्बाती रायडू ने 3 जून को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा कर दी| अम्बाती रायडू भारतीय क्रिकेट के ऐसे प्रतिभाशाली बल्लेबाजों में शामिल हैं जिन्हें अपनी प्रतिभा को दिखाने का कभी भी पूरा मौका नहीं मिला| जब भी उन्हें मौका मिला उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन कभी भी उन्हें लम्बे समय तक भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य के रूप में मौका नहीं दिया गया|

संन्यास का कारण

अम्बाती रायडू के संन्यास के कारणों पर अगर गौर करें तो इंग्लैंण्ड में चल रही विश्व कप क्रिकेट प्रतियोगिता में उनका चयन न होना उनके संन्यास लेने की मुख्य वजह है| जब विश्वकप के लिए टीम का चयन हो रहा था तब रायडू टीम में नम्बर चार के लिए मुख्य दावेदार थे| लेकिन उनके स्थान पर विजय शंकर को भेज दिया गया| अम्बाती ने संतोष किया| शिखर धवन के चोटिल होने पर एक बार फिर रायडू को नज़रंदाज़ कर के ऋषभ पन्त को इंग्लैंड भेजा गया, रायडू चुप रहे | जब चोटिल विजयशंकर के स्थान पर मयंक अग्रवाल को विश्वकप का टिकट टीम ने थमाया तो रायडू का सब्र जवाब दे गया और उन्होंने संन्यास की घोषणा कर दी|

भारत का प्रतिनिधत्व  

23 सितम्बर 1985 को हैदराबाद के गुंटूर में जन्मे रायडू ने भारतीय टीम की तरफ से 55 एकदिवसीय मैच खेले| जिसमे उन्होंने 47.6 के औसत से 1694 रन बनाए| जिसमें तीन शतक और दस अर्धशतक शामिल हैं| रायडू ने भारत की तरफ से 6 टी-20 मैच भी खेले जिसमे उन्होंने 42 रन बनाए| इसके अलावा अम्बाती रायडू भारत में आयोजित होने वाली इंडियन प्रीमियर लीग में अनेक टीमों से खेलते रहे हैं और सफल रहे हैं| फिलहाल वे महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग के सदस्य हैं|

विवादों से नाता

नायडू का अपने करियर के दौरान विवादों से भरपूर नाता रहा है| सबसे पहले तो उन्होंने गैर मान्यता प्राप्त ICL में क्रिकेट खेलकर BCCI दुश्मनी मोल ली | इसने उनके करियर को काफी प्रभावित किया| ICL को छोड़ने के बाद ही उनके लिए राष्ट्रीय टीम से खेलने का रास्ता साफ़ हो सका| इसके अलावा फिल्ड के अन्दर और बाहर अम्बाती रायडू का नाम अनेक खिलाडियों और अंपायर्स के साथ विवादों में आया जिनमे हरभजन सिंह के साथ हुआ विवाद भी प्रमुख है|

रायडू के संन्यास के बाद कई बड़े खिलाडियों ने उनके समर्थन में ट्वीट किया है| खैर, रायडू ने अब संन्यास ले लिया है | देखना ये है कि वे IPL जैसी प्रतियोगिताओं में खेलना जारी रखते हैं या नहीं| रायडू को उनके आने वाले भविष्य के लिए शुभकामनाएं|

 

 

 

शेयर करें