खेल

हैप्पी बर्थडे…….माही  

विकेट के पीछे बगुले जैसा ध्यान, विकेट के बीच चीते जैसी तेजी, और अपनी बेजोड़ बल्लेबाजी तथा अचूक रणनीति से करोड़ों भारतियों की उम्मीद हमेशा जिंदा रखने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 7 जुलाई को 38 वर्ष के हो गए| महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट का जादूगर कहें तो इसमें किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए| भारत के महानतम कप्तानों में शुमार धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत के लिए वो सारी ट्रॉफीयां जीती हैं जिसका इंतज़ार भारत को वर्षों से था|

छोटे से शहर से निकलकर एक महान क्रिकेटर के रूप में अपनी पहचान बनाने वाले धोनी के लिए सबकुछ इतना आसन नहीं था|

परिवार और शिक्षा

धोनी का जन्म झारखंड के रांची (तब बिहार ) में 7 जुलाई 1981 को  एक मिडल क्लास परिवार में हुआ था| उनके पिता का नाम पान सिंह और माता का नाम  देवकी देवी है| धोनी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा डीएवी  जवाहर विद्या मंदिर से पूरी की, धोनी अपनी पढ़ाई के साथ–साथ खेलो में भी सक्रिय रहते थे| बचपन में धोनी फुटबॉल खेला करते थे, वे गोलकी के रूप में खेलते थे| अपने स्कूल के फुटबॉल कोच के ही सलाह पर उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया तथा विकेट कीपिंग भी शुरू की|

करियर

अनेकों घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिताओं में खेलने के बाद धोनी का चयन 2004 में भारतीय क्रिकेट टीम में हुआ| उनका पहला मैच बंग्लादेश के विरुद्ध था जिसमे वे कुछ खास नहीं कर सके| धोनी को वास्तविक पहचान मिली भारत और पाकिस्तान के बीच हुई द्विपक्षीय श्रंखला से जिसमे धोनी ने अपने बल्ले के जौहर पूरी दुनिया को दिखाए| उनका हेलीकाप्टर शॉट विश्व प्रसिद्ध हुआ और धोनी ने खुद को टीम में एक विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में स्थापित कर लिया| उसके बाद धोनी और भारतीय क्रिकेट दोनों ही सफलता की सीधी चढ़ते गए | नेतृत्व की काबिलियत को देखते हुए धोनी को पहले टी-20 का कप्तान बनाया गया , भारत ने साउथ अफ्रीका में आयोजित पहला टी-20 विश्वकप जीत लिया | इसके बाद धोनी भारत के पूर्णकालिक कप्तान बन गए | फिर उनके कप्तानी में भारत ने अनेकों श्रृंखलाएं जीती जिसमे 2011 का क्रिकेट विश्व कप भी शामिल है, जिसमें धोनी ने छक्का लगाकर भारत को विश्वकप विजेता बनाया था |

इसके अलावा 2013 में धोनी की कप्तानी में भारत ने आईसीसी की चैम्पियंस ट्रॉफी भी जीती| इस प्रकार धोनी ने भारत की झोली को आईसीसी की सभी ट्रौफियों से भर दिया| धोनी ने टेस्ट में भी कप्तानी की और वहां भी भारतीय क्रिकेट को पहली बार रैंकिंग में शीर्ष पर पहुँचाया था|

धोनी ने युवाओं को मौका देने के लिए पहले टेस्ट और फिर वन डे और टी-20 की कप्तानी छोड़ दी| धोनी अब सिर्फ वनडे और टी-20 खेलते हैं | भले ही धोनी कप्तान नहीं हैं लेकिन आज भी संकट के समय वे ही संकट मोचन की भूमिका निभाते हैं|

महानतम कप्तान धोनी

धोनी की कप्तानी में भारत ने 2007 टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 ODI वर्ल्ड कप, 2013 चैंपियंस ट्रॉफी, भारतीय टीम ने जीती है| महेंद्र सिंह धोनी विश्व के ऐसे पहले कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी की सभी प्रतियोगिताएँ जीती हैं|

भारत के लिए धोनी

           मैच    रन     शतक     अर्धशतक  कैच/ स्टंप

टेस्ट       90     4876    6         33     256/38

वनडे       349    10723  10        72      320/123

टी-20      98     1617    –          2      57/34

IPL में धोनी

IPL के पहले सीजन के सबसे महंगे खिलाड़ी रहे धोनी को चेन्नई सुपर किंग्स ने 5 मिलियन डॉलर यानि की 10 करोड़ रुपए में खरीदा था। इनकी कप्तानी के साथ चेन्नई सुपर किंग्स ने इस लीग के तीन सीजन जीते हैं ।

महेंद्र सिंह धोनी की उपलब्धियां

धोनी को वन डे करियर में 6  मैन ऑफ द सीरीज पुरस्कार और 20 मैन ऑफ द मैच पुरस्कार मिले हैं। उन्हें अपने पूरे टेस्ट करियर में 2 मैन ऑफ द मैच पुरस्कार भी मिले हैं।

  • साल 2007 में महेंद्र सिंह धोनी को भारत सरकार नेखेल रत्न अवॉर्ड से भी सम्मानित किया। ये पुरस्कार खेल की दुनिया में दिया जाने वाले सर्वश्रेष्ठ सम्मान है।
  • धोनी को साल 2009 में भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से भी नवाजा गया था।
  • इसके साथ ही धोनी को 2 अप्रैल, 2018 को देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया था।
  • धोनी को इंडियन आर्मी ने मानद लेफ्टिनेंट कर्नल का पद दिया है
  • साल 2011 में दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की लिस्ट में धोनी का नाम लिखा गया था।

धोनी ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया लेकिन अपने सपने और उसे पाने का जुनून कभी खत्म नहीं होने दिया| धोनी को एक खिलाड़ी और एक बेहतरीन कप्तान के रूप में मिली सफलता ही उनके बारे में सब कुछ कह जाती है| ये सब कुछ संभव हुआ है क्रिकेट के प्रति उनकी सच्ची भावना और कड़ी मेहनत के कारण जिसने उन्हें इस आज भारत के ही नहीं बल्कि विश्व के महानतम खिलाडियों में शुमार कर दिया है| धोनी आज दुनियाभर में करोड़ों क्रिकेटरों के प्रेरणा स्त्रोत बन गए हैं|

 

 

 

 

शेयर करें