विचार

26 जनवरी को लेकर पाकिस्तान की एक और साजिश का खुलासा

26 जनवरी के मौके पर क्या है पाकिस्तान का प्लान

भारत कल अपना 72वा गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा है देश के इस बड़े दिन (26 जनवरी ) पर अक्सर आतंकी संगठनो और कुछ अराजक तत्वों की ओर से हर बार कुछ न कुछ नापाक साज़िशे सामने आती ही है|

और हर बार की तरह इस बार भी देश को गणतंत्र दिवस के मौके पर आतंकित करने की कई धमकिया भी मिली, लेकिन हर बार की ही तरह इस बार भी हमारी देश की सुरक्षा वयवस्था ने ऐसी हर कोशिश को अबतक नाकाम किया किया हुआ है|

लेकिन वो कहते है न लातों के भूत बातो से नहीं मानते इसी के तहत कई मोर्चो पर मूह की खाने के बाद भी हमारे पडोसी मुल्क पकिस्तान की अक्ल ठिकाने नहीं आई है

अब पाकिस्तान ने हमारे गणतंत्र दिवस समारोह (26 जनवरी) में विघ्न डालने का नया तरीका इक्तियार किया है, दरअसल दिल्ली पुलिस के ख़ुफ़िया आयुक्त दीपेन्द्र पाठक ने पाकिस्तान की एक बड़ी साजिश का खुलासा किया है|

क्या किसानो की ट्रेक्टर रैली को पाकिस्तान ने बनाया अपना नया हथियार?

26 जनवरी
image source-social media

बीते दिन देश की राजधानी में 2 महीनो से आन्दोलन कर रहे किसानों को दिल्ली पुलिस ने 26 जनवरी के मौके पर ट्रेक्टर मार्च  की अनुमति तो दे दी, लेकिन इस मामले से जुडी अब एक और खबर सामने आ रही है|

इस मामले में पाकिस्तान की ओर से गड़बड़ी फैलाने की एक बड़ी साजिश का खुलासा  दिल्ली पुलिस इंटेलिजेंस की ओर से किया गया है। दिल्ली पुलिस के इंटेलिजेंस के कमिश्नर दीपेंद्र पाठक ने अपने बयान में कहा, 26 जनवरी को ट्रेक्टर रैली को डिस्टर्ब करने के बहुत सारे इनपुट्स बार-बार आ रहे हैं।

इसे भी पढ़े:-नितीश कुमार ने किसे किया याद 

इंटेलिजेंस और अन्य एजेंसियों से हमें पता चला है कि गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) पर किसानों के ट्रैक्टर मार्च में गड़बड़ी का खतरा है। गड़बड़ी और कन्फ्यूजन फैलाने के उद्देश्य से पाकिस्तान में 308 नए ट्विटर हैंडल बनाए गए हैं।’ यहाँ आपको बता दे की दिल्ली पुलिस की ओर से पाकिस्तान में बनाए गए इन ट्विटर हैंडल्स की लिस्ट भी जारी की गई है।

दीपेन्द्र पाठक ने आगे कहा, ’13 जनवरी से 18 जनवरी के बीच सोशल मीडिया ऐनालिसिस से पता चलता है कि ट्रैक्टर रैली को डिस्टर्ब करने लिए, भ्रम पैदा करने के लिए 308 ट्विटर हैंडल पाकिस्तान से जेनरेट हुए हैं।

और वे इसपर लगातार काम भी कर रहे हैं। देश के कई जगहों से हमें इनपुट्स मिले हैं कि किसान रैली के वक्त गड़बड़ी और कानून व्यवस्था को लेकर चुनौतियां पैदा किये जाने की साजिश रची गई है।’

26 जनवरी के मौके पर पाकिस्तान ने की ये साज़िश

इस मामले में आगे पाठक ने कहा हम किसानों की ट्रैक्टर रैली को सुरक्षित तरीके से संपन्न करा पाएं, इसको लेकर काफी चर्चा हुई है। हरियाणा और यूपी के अधिकारियों के साथ भी सुरक्षा को लेकर हमारी चर्चा हुई है। जिसके तहत एक खास समय पर, एक खास तरीके से, इस ट्रेक्टर रैली को आयोजित करने की कोशिश की जा सके।

इसे भी पढ़े:-आरफा खानम शेरवानी The Wire की एंकर एक बार फिर विवादों में

दीपेन्द्र पाठक ने कहा की ट्रेक्टर रैली के दौरान सुरक्षा के सभी जरूरी प्रबंध भी किए जाएंगे जिससे किसी तरह की गडबडी की कोई गुंजाईश न रहे|

26 जनवरी को दिल्ली हाई अलर्ट पर

26 जनवरी
image source-social media

इससे पहले स्पेशल कमिश्नर ने किसानों को ट्रैक्टर मार्च की अनुमति देने की जानकारी देते हुए कहा था  ‘गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकालने की मांग का सम्मान करते हुए दिल्ली की 3 जगहों से- सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर से बैरिकेड्स को हटाकर दिल्ली के अंदर मेन रोड पर कुछ किलोमीटर तक किसानो के अंदर आने पर सहमति हुई है।’

यहाँ आपको बात डे की तीनो सीमाओं से किसानो की इस परेड का 100 किलोमीटर से ज्यादा का रूट दिल्ली में है इसलिए इस रैली के दौरान सुरक्षा वयवस्था के मद्देनज़र दिल्ली पुलिस सभी ट्रेक्टर मालिकों की जानकारी रखेंगी|

दिल्ली पुलिस इसी के साथ चाहती है की इस आयोजन के दौरान किसानो की तरफ से वालेंनटियर्स भी इस मौके पर मौजूद रहे जिससे ये आयोजन शांतिपूर्वक तरीके से संपन कराया जा सके

परेड में गड़बड़ी फ़ैलाने की पाकिस्तान की साजिश के खुलासे के बाद पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने पूरी दिल्ली को हाई अलर्ट पर रखा है|

ऐसे मौकों पर वैसे ही देश की सुरक्षा का खतरा बढ़ जाता है और खासकर दिल्ली पुलिस के कंधो पर बड़ी चुनौती होती है लेकिन इस बार दिल्ली पुलिस के सामने अभी सबसे बड़ी चुनौती है किसानो की इस ट्रेक्टर परेड को शांतिपूर्वक ढंग से संपन करना|

रिपोर्ट-पूजा पाण्डेय

मीडिया दरबार

 

शेयर करें
COVID-19 CASES