राष्ट्रीय बिज़नेस

क्या नए साल में कटने वाली है आपकी भी सैलरी ?

पूजा पाण्डेय,मीडिया दरबार

क्या नए साल में कटने वाली है आपकी भी सैलरी ?

अगर आप भी नौकरी पेशा लोगो में से है अगर आपका घर भी आपके मासिक वेतन से चलता है तो ये रिपोर्ट आपके लिए बेहद जरूरी है

कोरोना काल में ना सिर्फ लोगों के स्वास्थ्य, बल्कि देश की अर्थव्यवस्था और नौकरी पर भी असर पड़ा है। अपने नुकसान की भरपाई के लिए एक ओर जहां कुछ कंपनियों ने कर्मचारियों की छंटनी की, वहीं दूसरी ओर कुछ कंपनियों ने कर्मचारियों के वेतन में कटौती की।

इसके अलावा सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनोमी यानि CMIE ने कोरोना काल में रोजगार या नौकरियों से जुड़े कुछ आंकड़े जुटाएं थे| इनके आकड़ों के अनुसार कोरोना काल में जिन लोगों ने अपना काम खो दिया उनका कुल आंकड़ा एक करोड़ 90 लाख है|

ये अकड़ा तो उन लोगो का है जिन्हें कोरोना के कारण अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा इनके अलवा कुछ लोग ऐसे भी है जो अब पहले के मुकाबले काफी कम वेतन पर काम करने को मजबूर है|

इस स्थिति के बाद अब नौकरी पेशा लोगों के लिए एक और बुरी खबर सामने आई है

इन सबके बाद अब अप्रैल 2021 से कर्मचारियों को एक और झटका लग सकता है। अगले वित्त वर्ष की शुरुआत से कर्मचारियों की इन-हैंड या टेक-होम सैलरी कम हो सकती है।

अगले वित्त वर्ष की शुरुआत यानी अप्रैल, 2021 से कर्मचारियों की इन-हैंड या जिसे हम टेक-होम सैलरी भी कहते है उसके स्ट्रक्चर में बदलाव किए जा सकते हैं, जिससे आपकी टेक होम सैलरी पहले के मुकाबले कम हो सकती है. सरकार के  नए पारिश्रमिक नियम के तहत जिन ड्राफ्ट नियमों की अधिसूचना जारी की है, उसके मुताबकि कंपनियों को अपने सैलरी पैकेज के स्ट्रक्चर में कुछ बदलाव लाना होगा ये नए नियम  Code on Wages, 2019 के तहत आते हैं, जो संभवत: अगले साल अप्रैल से लागू होने वाले है.

नए नियमों के तहत allowance component यानी सैलरी के साथ मिलने वाले भत्ते, कुल सैलरी या आपका CTC से 50 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकते और इसका सीधा मतलब है कि आपकी बेसिक सैलरी, आपके सैलरी स्ट्रक्चर का 50 फीसदी होगी|

इस नियम का पालन करने के लिए, कंपनियों को सैलरी के बेसिक पे कंपोनेंट को बढ़ाना होगा, जिसके चलते ग्रेच्युटी पेमेंट और कर्मचारी की ओर से भरे जाने वाले प्रॉविडेंट फंड की रकम बढ़ जाएगी| रिटायरमेंट के लिए डाली जाने वाली रकम बढ़ने का मतलब है कि आपकी टेक-होम सैलरी यानि आपका मासिक वेतन जो आप हर महीने उठाते है, कम हो जाएगी लेकिन आपका रिटायरमेंट फंड बढ़ेगा| वर्तमान पालिसी में, अधिकतर प्राइवेट कंपनियां कुल CTC के बड़े हिस्से में गैर-भत्ते वाला हिस्सा कम और भत्ते वाला हिस्सा ज्यादा रखने को वरीयता देती हैं. हालांकि, ये नया नियम आ जाने के बाद से ये पुराना स्ट्रक्चर बदल जाएगा. जिससे पूरी संभावना है कि इन नियमों से प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों की सैलरी प्रभावित होगी क्योंकि आमतौर पर प्राइवेट कर्मचारियों को ज्यादा भत्ता मिलता है|

इस नए नियमों के मुताबिक, कंपनियों को 50 फीसदी बेसिक सैलरी की अनिवार्यता को पूरा करने के लिए उनकी बेसिक सैलरी को बढ़ाना होगा|

इन नए नियमों से भले ही आपकी टेक-होम सैलरी घट जाएगी, लेकिन इस क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों का मानना है कि इससे लोगों को बेहतर सामाजिक सुरक्षा और रिटायरमेंट बेनेफिट्स मिलेंगे|

इसके तहत जहां आपकी इन हैंड सैलरी कम होगी तो वहीं भविष्यनिधि यानी रिटायरमेंट पर मिलने वाली रमक ज्यादा होगी।

 

 

 

शेयर करें
COVID-19 CASES